फ़रमाईश

छत्तीसगढ़ी गीत संगी एक श्रृंखला ये, छत्तीसगढ़ी गीत ल सहेजे के ये ह एक प्रयास हरे… । गीत हा नवा भी हो सकथे अउ पुराना भी । अबड़ झन गीत संगीत के मयारू हे, जेकर मन कर अपन पसंद के संगीत के कोठी भर के खजाना हे । ये ब्लाग के माध्यम से ओकर मन के परिचय आप सब से करवात रबोन, और सुनवात रबोन ओकर मन के सकेले अनूठे गीत । यदि आप मन के पास मा हे कुछ अनमोल गीत अउ ओला आप अपने जैसे अन्य गीत संगीत के मयारू मन के संग बाँटना चाहथो, त हमन ला जरूर लिखहु ।

यदि कोई ख़ास गीत जेला आप खोजत हव तो ओकर फ़रमाईश भी टिप्पणी करके इंहा रख सकत हव …

संगवारी मन फ़रमाईश करे से पहली पिछले गीत या श्रेणीबद्ध गीत सूची म गीत ल एक-घांव जरूर खोज लेहु…

4,582 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. Pushpendra jaiswal
    दिसम्बर 29, 2019 @ 15:24:47

    kedar yadav ji ka “hamro puchhaiya bhaiya kono nai he ga” original sound track me uplabdh karaye..

    प्रतिक्रिया

  2. Ram kumar sahu
    दिसम्बर 29, 2019 @ 22:51:18

    hath ke churi mathe ke bindiya full song चाहिए सर,,, मिल जाये तो आपकी बॉडी कृपा होगी।।

    प्रतिक्रिया

  3. Ram kumar sahu
    दिसम्बर 29, 2019 @ 22:52:57

    hath ke churi mathe ke bindiya full song चाहिए सर,,, मिल जाये तो आपकी बॉडी कृपा होगी।।

    Ye song mil jaye to mere e-mail id me bhejen…

    Thank you… Sir

    प्रतिक्रिया

  4. Narmada patel
    जनवरी 11, 2020 @ 22:30:45

    More Bhatt mata ke bhuiya ma chiraiya bole

    प्रतिक्रिया

  5. Sewa ram Patel
    जनवरी 17, 2020 @ 18:56:49

    Devi Ganga devi Ganga lahr turanga geet bheje ke kripa karihav gurudev .

    प्रतिक्रिया

  6. Yogendra
    जनवरी 19, 2020 @ 10:47:34

    Surta aawat he mor gano ke surta aawat h

    प्रतिक्रिया

  7. प्रेम
    जनवरी 19, 2020 @ 11:40:56

    तेल का चूड़ी टूटल खटिया

    प्रतिक्रिया

  8. Prem thakur
    जनवरी 19, 2020 @ 11:44:57

    परके राजा धनि बर

    प्रतिक्रिया

  9. Prem thakur
    जनवरी 19, 2020 @ 11:44:57

    परके राजा धनि बर

    प्रतिक्रिया

  10. Gaurav Koshley
    जनवरी 20, 2020 @ 23:38:28

    एक मोला डेबे धनी माँगे भर सिंदूर लगाए
    ये गीत ला खोजत हाव
    स्वर अलका चन्द्राकर

    प्रतिक्रिया

  11. Gaurav Koshley
    जनवरी 20, 2020 @ 23:39:22

    एक मोला डेबे धनी माँगे भर सिंदूर लगाए
    ये गीत ला खोजत हाव
    स्वर अलका चन्द्राकर

    प्रतिक्रिया

  12. Jeewrakhan
    फरवरी 01, 2020 @ 21:00:14

    tahu aabe re faag gaye hamar para ma

    प्रतिक्रिया

  13. Vasu
    फरवरी 03, 2020 @ 15:28:01

    Bada julmi he gaon ke gori

    प्रतिक्रिया

  14. Vinod
    फरवरी 05, 2020 @ 03:15:31

    Tor agora ma bera phage o by mithlesh sahu

    प्रतिक्रिया

  15. Ravi
    फरवरी 05, 2020 @ 16:35:46

    Dekho tola mai man bhar ke

    प्रतिक्रिया

  16. Dev Kumar sahu
    फरवरी 08, 2020 @ 11:27:52

    अंगार मोती के वो अंगना मा जागे जोती वो

    ये गीत चाहिए सर जी लिरिक्स में

    प्रतिक्रिया

  17. anand ji
    फरवरी 10, 2020 @ 14:47:14

    hoge biyari bera o didi
    gaana suna detev aise mor nivedan rihise

    प्रतिक्रिया

  18. purshottam lal sahu
    फरवरी 17, 2020 @ 22:01:52

    siyahi mangwahi rama wala kuleshwar tamrakar gi ke geet nahi mil nahi raha hai kripya shamil karne ka prayas karenge

    प्रतिक्रिया

Kishor Kumar dhruw को एक उत्तर दें जवाब रद्द करें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 763 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: