तोला जोगी जानेव रे भाई … Tola Jogi Janev Re Bhai

तोला जोगी जानेव रे भाई
तोला साधु जानेव गा
तोला जोगी जानेव रे भाई
तोला साधु जानेव रे भाई
तोला जोगी जानेव गा

तोला जोगी जानेव रे भाई
का जानव लंकापति रावण
ल जोगी जानेव
तोला जोगी जानेव रे भाई
का जानव लंकापति रावण
ल जोगी जानेव

हरर हरर सीता माई रोए
सनन सनन गोहराई गा
हरर हरर सीता माई रोए
सनन सनन गोहराई गा
तीनों लोक में है कोई योद्धा
तीनों लोक में है कोई योद्धा
लफ़ड़ा के बिलमाई वो
मैं जोगी जानेव रे भाई
का जानव लंकापति रावण
ल जोगी जानेव
तोला जोगी जानेव रे भाई
का जानव लंकापति रावण
ल जोगी जानेव

अतेक बात ल सुने जटायु
हमका दिए ललकारी गा
अतेक बात ल सुने जटायु
हमका दिए ललकारी गा
जिनका रहा तुम प्रेम सुंदरी
जिनका रहा तुम प्रेम सुंदरी
तउन हरे लेई जाई वो
मैं जोगी जानेव रे भाई
का जानव लंकापति रावण
ल जोगी जानेव
तोला जोगी जानेव रे भाई
का जानव लंकापति रावण
ल जोगी जानेव

सुरुज बरन निरपति राजा दशरथ
जिनका रे पुत्र रघुराई गा
सुरुज बरन निरपति राजा दशरथ
जिनका रे पुत्र रघुराई गा
उनका रहा मैं प्रेम सुंदरी
हो~ उनका रहा मैं प्रेम सुंदरी
रावण हर लेई जाई वो
मैं जोगी जानेव रे भाई
का जानव लंकापति रावण
ल जोगी जानेव
तोला जोगी जानेव रे भाई
का जानव लंकापति रावण
ल जोगी जानेव


गायन शैली : ?
गीतकार : ?
रचना के वर्ष : ?
संगीतकार : ?
गायन : चम्पा, बरसन बाई
संस्‍था/लोककला मंच : नया थियेटर

यहाँ से आप MP3 डाउनलोड कर सकते हैं

गीत सुन के कईसे लागिस बताये बर झन भुलाहु संगी हो …

7 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. rahulsingh
    सितम्बर 17, 2010 @ 06:46:41

    लगभग 40 साल पुराना रिकार्ड नया थियेटर से संबंधित है, जिसके ‘ए’ साइड में यह गीत ‘तो ल जोगी जानेंव रे भाई, तो ल साधु जानेंव ग’ था और ‘बी’ साइड में अब दिल्‍ली 6 के गीत के रूप में जाना जाने वाला ‘सास गारी देवे’ गीत था.

    प्रतिक्रिया

  2. shiv dewangan
    मार्च 15, 2011 @ 08:26:27

    it is best of my point of view that we are know the chhattisgari songs
    all songs old to new
    is best
    we can know our culture

    प्रतिक्रिया

  3. Mohan Verma
    मार्च 16, 2011 @ 06:56:33

    अतेक पुराना गाना लगथे ह मन ल कभु सुने ल मिलतिस की नही कोन जानत रहिस से, पर राजेश चन्‍द्राकर जी के बहुत बहुत धन्‍यवाद, जेन हा हमर छत्‍तीसगढ के पंरंपरा ल संजोये के पूरा प्रयास करत हे

    प्रतिक्रिया

  4. Prasanna Sharma
    मई 27, 2011 @ 14:27:13

    Rajesh bhi gada gada dhanyawad……… atek junna geet jaun ha man me base rihis aaj sune bar mil ge ..

    प्रतिक्रिया

  5. YUVRAJ
    जून 12, 2011 @ 18:39:08

    lovely song………..

    प्रतिक्रिया

  6. krishna kumar
    जनवरी 04, 2012 @ 08:22:43

    Chhattisgarh ke ye bhuinya ma bas dhane cha ha nai upje balki sughar sughar gawaiya man ghala upjthe… Jai chhattisgarh mahtari,.

    प्रतिक्रिया

  7. vijay kumar bhoi
    फरवरी 23, 2012 @ 12:45:14

    ऐ गाना ला सुनके मन प्रसन्‍न होगे हमर पुराना संस्‍कृति याद आ आगे गुजरे जमाना याद आगे

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 610 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: