लहर मारे लहर बुंदियाँ … Lahar Mare Lahar Bundiya

लहर मारे लहर बुंदियाँ
सगरो जमाना गोरी झाम डारे
ऐ लहर मारे लहर बुंदियाँ
सगरो जमाना गोरी झाम डारे

झुमर झामें मन मंदरिहा
सगरो जमाना राजा नाच माते
झुमर झामें मन मंदरिहा
सगरो जमाना राजा नाच माते

ऐ लहर मारे लहर बुंदियाँ
सगरो जमाना गोरी झाम डारे
झुमर झामें मन मंदरिहा
सगरो जमाना राजा नाच माते

जगर बगर रूप सरग परी के समान
हाय हाय परी के समान
काया माया भारी हाबय उमर हे नादान
हाय हाय उमर हे नादान
जोहत रहिगे राम
होय जोहत रहिगे राम
ठारे तरैया पार भागवाले
हेय जोहत रहिगे राम
ठारे तरैया पार भागवाले

ऐ लहर मारे लहर बुंदियाँ
सगरो जमाना गोरी झाम डारे
झुमर झामें मन मंदरिहा
सगरो जमाना राजा नाच माते
झुमर झामें मन मंदरिहा
सगरो जमाना राजा नाच माते

धिक् दिन गा मंदार बाजे
हा~आ हा~आ हा~आ हाय~
धिक् दिन गा मंदार बाजे
करमा के पार राजा करमा के पार
छमक छईया नाचव
झुमर झटका झंकार राजा झटका झंकार
जोहत रहिगे राम
हाय जोहत रहिगे राम
ठारे तरैया पार भागवाले
ऐ जोहत रहिगे राम
ठारे तरैया पार भागवाले

झुमर झामें मन मंदरिहा
सगरो जमाना राजा नाच माते
ऐ लहर मारे लहर बुंदियाँ
सगरो जमाना गोरी झाम डारे
ऐ लहर मारे लहर बुंदियाँ
सगरो जमाना गोरी झाम डारे

झुमर झामें मन मंदरिहा
सगरो जमाना राजा नाच माते
झुमर झामें मन मंदरिहा
सगरो जमाना राजा नाच माते

ऐ लहर मारे लहर बुंदियाँ
सगरो जमाना गोरी झाम डारे
लहर मारे लहर बुंदियाँ
सगरो जमाना राजा नाच माते

कविता वासनिक
कविता वासनिक (हिरकने)


गायन शैली : ?
गीतकार : लक्ष्मण मस्तुरिया
रचना के वर्ष : ?
संगीतकार : खुमान गिरजा
गायक : कुलेश्वर ताम्रकार, कविता वासनिक (हिरकने)
संस्‍था/लोककला मंच : ?

यहाँ से आप MP3 डाउनलोड कर सकते हैं

गीत सुन के कईसे लागिस बताये बर झन भुलाहु संगी हो …

12 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. MAN SINGH AZAD
    मार्च 14, 2011 @ 17:09:58

    Chandrakar ji aapka prayas bahut hi badhiya hai.
    main kaphi dino se purane chhattisgarhi geeton ki khoj me tha aapke pryas se mujhe mil gayaa.

    Dhanyawad.

    प्रतिक्रिया

  2. praveen kurre
    मार्च 15, 2011 @ 10:49:05

    sachchi kanhav ta maja aa ge ga. aaje paper ma padhenv au turte net ma ja ke dekhenv . muhun ha adbad din ke prayas karat rehen website banayake lekin drravat rahen kono mulikta ke chakkar ma kot kachcheri chal dihi ta ka karhu. khair kanhi nahi hovay tore prayas ha nai jane katka jhan padhe likhe enginner au doctor man la prerna dihi jenha chhattisgarhi ma bat bhi nai karna chahat ye kon jani vo man ka sochthe cghi bolbo ta han chhote ho jabo.
    maya dya rakhe raibe jai johar.

    प्रतिक्रिया

  3. nilkanth sahu
    मार्च 15, 2011 @ 11:36:30

    मैं बहुत दिन से छत्तीसगढी लोक गीत संगीत नेट में ढूंढ रहा था लेकिन मिल नहीं रहा था आपने मेरा काम आसान कर दिया अब मैं पुराने गानों का कलेशन तैयार कर मोबाईल में चला सकूंगा इसके लिए धन्यवाद

    प्रतिक्रिया

  4. RAHUL DHANGAR
    नवम्बर 15, 2011 @ 20:16:00

    ek new website batao

    प्रतिक्रिया

  5. Lochan Prasad Dansena
    मई 14, 2012 @ 11:30:41

    my best song

    प्रतिक्रिया

  6. kamal sahu
    दिसम्बर 28, 2012 @ 21:58:02

    छत्तीसगढ़ी गीत ल सुन के ह्दय गदगद हो जाथे….KAMAL SAHU

    प्रतिक्रिया

  7. Yuvraj Dubey
    जनवरी 19, 2013 @ 13:43:38

    प्रिय राजेश भाई,, छत्तीसगढी गीत संगीत के आपके ये Collection सिरतो म अब्बड सुघ्घर अउ प्रशंसनीय हाबय । हक्कन के बधई अउ कोरी अकन शुभकामना ।।

    प्रतिक्रिया

  8. Arjun dhruv
    अगस्त 23, 2013 @ 22:33:05

    Ye geet la sun ke dil ke mor taar ha jhankrit hoge .priy rajesh bhaiya dotho gana la kaisno krk post karake kasht karhu apman ha (1)pehene hara rang ke saree wo lota wale duno behani (2)mama dai kothi le gir ge bhadak le mamadai… Dhanyawad

    प्रतिक्रिया

  9. vicky
    मार्च 01, 2015 @ 11:37:24

    kon bairi tola ga chahiye

    प्रतिक्रिया

  10. r
    मार्च 03, 2015 @ 23:17:37

    ab batar ke din aage re sua na

    प्रतिक्रिया

  11. roshan
    मार्च 03, 2015 @ 23:21:10

    chuhaki leja raja chuhaki leja babu

    प्रतिक्रिया

  12. Mukesh prajapati
    अगस्त 12, 2016 @ 09:10:05

    बहुत ही अच्छा लगा ,आपके पूरे टीम को साधुवाद,
    पुरानी यादे, ताजा हो गई !,ये गीतकार, गायक
    छत्तीसगढ. के नवरत्न है! हमारी सस्कृति मे चार चाद लगाते है!

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 610 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: