चल गिंजर आबो संगी … Chal Ginjar Aabo Sangi

बाहीं जोरे जोरे संगी

चल गिंजर आबो संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो
चल गिंजर आबो संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो
बाहीं जोरे जोरे संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो
बाहीं जोरे जोरे संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो

तोरे अगोरा मा बेरा पहागे वो~~~ओ~~ओ
तोरे अगोरा मा बेरा पहागे वो~~~ओ
बड़ बेरा~ करे संगी~~~~इ~~इ
जी मा डर समागे का वो, चल गिंजर आबो
चल गिंजर आबो संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो

बमरी के पेड़ गिरा ले पैरी ला~~~आ~~आ
बमरी के पेड़ गिरा ले पैरी ला~~~
मोर मन मा बसे हे~~~~ऐ~~
परदेसी बैरी गा, चल गिंजर आबो
चल गिंजर आबो संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो

चांदी के मुंदरी रेशम के फुन्दरा~~~आ~~आ
चांदी के मुंदरी रेशम के फुन्दरा~~~आ
ले दुहूँ~ तोर बर संगी~~~इ~~
लाली के लुगरा वो, चल गिंजर आबो
चल गिंजर आबो संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो

ले देबे जोड़ी मया के बंधना~~~आ~~आ
ले देबे जोड़ी मया के बंधना~~~आ
ले के आबे तैं हा डोली~~~इ~~
मोरेच अंगना मा, चल गिंजर आबो
चल गिंजर आबो संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो
बाहीं जोरे जोरे संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो
बाहीं जोरे जोरे संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो
बाहीं जोरे जोरे संगी, सुपेला के बजार ले, गिंजर आबो


गायन शैली : ?
गीतकार : ?
रचना के वर्ष : ?
संगीतकार : ?
गायन : ममता चंद्राकर, मिथलेश साहू
एल्बम : ?
संस्‍था/लोककला मंच : ?

ममता चंद्राकर
ममता चंद्राकर

 

यहाँ से आप MP3 डाउनलोड कर सकते हैं

 

गीत सुन के कईसे लागिस बताये बर झन भुलाहु संगी हो …

16 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. Abhishek Verma
    मार्च 15, 2011 @ 07:39:03

    jhakkass web site banaye habas bhai teha… I’m feeling proud to see our native songs. Bahut achcha lagis he…

    प्रतिक्रिया

  2. pradeep banjar
    जून 08, 2011 @ 01:30:25

    jhakash site hai boss kuch chhattisgarhi film song bhi samne ad karo boss

    प्रतिक्रिया

  3. Suraj Dewangan
    जून 24, 2011 @ 18:59:13

    aap ki is apar mehanat ka ham samman karte hain ki aapne is website ko banakar chhattisgarh ke lok sanskriti ko wishwa mein prasarit kiya

    प्रतिक्रिया

  4. aman manikpuri anjor das
    अगस्त 01, 2011 @ 13:39:07

    ye geet la sun ke aise lgthe jaise kareja bhitri ke jammo dukh pira ye geet la sun ke durihage,sirton ma hamar anchal ke geet mehnatkash kisan ke tan au man duno la thiray ke sadhan hare,jema dunia ke jammo sukh samay hawe…

    प्रतिक्रिया

  5. yogesh
    अक्टूबर 31, 2011 @ 18:50:03

    bahut badhiya lagis bhaiya tor website ha

    प्रतिक्रिया

  6. Rajesh Kumar Gajendra
    नवम्बर 16, 2011 @ 12:14:51

    अब्‍बड सुघ्‍घर लागिस भैया, ऐसने बने-बने गाना मन ला अउ डाउनलोड कर देबे त तुंहर साधुवाद।
    में ह अब्‍बड दिन ले ऐसने साईट ल खोजत रहेंव, फेर मोर एक झन संगी ह मोला बताईस त ऐला जान परेंव।

    अंत म अब्‍बड साधुवाद ।

    प्रतिक्रिया

  7. sush
    दिसम्बर 30, 2011 @ 02:31:45

    Pardesh ma rahi ke ye junna gana man la apan bhasha ma sun ke mola kaise lagat he tela ka batao. tumhala bahut bahut dhanyawad he bhai.

    प्रतिक्रिया

  8. s jaggu
    दिसम्बर 30, 2011 @ 10:35:30

    ye geet la sun ke mola bahut btdiya lagis

    प्रतिक्रिया

  9. HITESH KUMAR YADAV
    जुलाई 18, 2012 @ 18:09:22

    अब्‍बड सुघ्‍घर लागिस भैया, ऐसने बने-बने गाना मन ला अउ डाउनलोड कर देबे त तुंहर साधुवाद।
    में ह अब्‍बड दिन ले ऐसने साईट ल खोजत रहेंव, फेर मोर एक झन संगी ह मोला बताईस त ऐला जान परेंव।

    प्रतिक्रिया

  10. bhupesh kujmar sahu banhardi
    जुलाई 31, 2012 @ 12:37:52

    bahut hi badiya gana he sangwari ye ha ..mola to ye to badiya ganna he sangi mor..

    प्रतिक्रिया

  11. Pooja
    मई 18, 2013 @ 15:20:42

    Realy very nice song jitna tarif karu utna kam hai……………..

    प्रतिक्रिया

  12. bhuvendra shory
    जून 04, 2013 @ 22:11:10

    logo ko dj song sunna pasand h lakin mujhe bollywood or chhattisgarhi ke purane song pasand h

    प्रतिक्रिया

  13. shashi kumar diwan
    जून 13, 2013 @ 18:50:26

    मोला पुराना छत्तीसगढ़ी गाना बहुत अच्छा लागथे ये गाना ल मेहा रेडिया मे सुने रेहेव अऊ आज आप के परयास ले ये गाना सुने मिलीस मेहा आप मन के आभारी अव. जय जोहार भईया ल

    प्रतिक्रिया

  14. DILESHKOMA
    मार्च 08, 2014 @ 10:21:52

    ACHA LAGES HE MOLA CHHATTISGARHDI GIET

    प्रतिक्रिया

  15. Chhaliya Ram Sahani 'ANGRA'
    दिसम्बर 04, 2014 @ 15:36:32

    mela, madai ,bazar man ke uchhah mangal bar jaruri he. chhattisgarh ke hat bazar jingi ke adhar he. raipur ke turi hatri etwari bazar yekar achha udaharan he.

    प्रतिक्रिया

  16. TAMESHWAR PATEL
    फरवरी 27, 2015 @ 15:42:22

    jordar gana he g

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 610 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: