तोर मन के नोहे … Tor Man Ke Nohe

तोर मन के नोहे

पड़गे किनारी मा चिनहारी
ये लुगरा तोर मन के नोहे
पड़गे किनारी मा चिनहारी
ये लुगरा तोर मन के नोहे
तोर मन के नोहय या तोर मन के नोहे
तोर मन के नोहय या तोर मन के नोहे
लागे हावय नैना मा कटारी
ये कजरा तोर मन के नोहे
लागे हावय नैना मा कटारी
ये कजरा तोर मन के नोहे

लौका हा लौका के दातन मा तोर
मिठ बोलना बजादेबे मांदर ला तोर
अइसे लागय तोर खोपा मा गोई
गुंजियागे करिया बादर हा वो
इंद्र राजा आगे धनुषधारी
ये फुन्दरा तोर मन के नोहे
इंद्र राजा आगे धनुषधारी
ये फुन्दरा तोर मन के नोहे

कोन बन मा मोहना बजाये बांसुरी
सुरता समागे सुरसुधिया
जकर बकर होगे रे लकर धकर होगे रे
कइसे परावत हे रधिया
जइसे भगेली कोनों नारी
ये झगरा तोर मन के नोहे
जइसे भगेली कोनों नारी
ये झगड़ा तोर मन के नोहे

नाचत हे रधिया नचाये मोहना
झुमर झुमर मुरली बजाये मोहना
महर महर महमागे रितुवा बसंती
इंदरा बन मुस्काये मोहना
मोर मन के फुलगे फुलवारी
ये भँवरा तोर मन के नोहे
मोर मन के फुलगे फुलवारी
ये भँवरा तोर मन के नोहे

तोर मन के नोहे या तोर मन के नोहे
तोर मन के नोहे या तोर मन के नोहे
पड़गे किनारी मा चिनहारी
ये लुगरा तोर मन के नोहे
ये लुगरा तोर मन के नोहे
ये झगरा तोर मन के नोहे
ये झगरा तोर मन के नोहे


गायन शैली : ?
गीतकार : ?
रचना के वर्ष : ?
संगीतकार : ?
गायक : कुलेश्वर ताम्रकार
संस्‍था/लोककला मंच : ?

 

यहाँ से आप MP3 डाउनलोड कर सकते हैं

 

गीत सुन के कईसे लागिस बताये बर झन भुलाहु संगी हो …

11 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. ASHOK BAJAJ
    नवम्बर 05, 2010 @ 00:03:11

    ‘असतो मा सद्गमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय, मृत्योर्मा अमृतं गमय ‘ यानी कि असत्य की ओर नहीं सत्‍य की ओर, अंधकार नहीं प्रकाश की ओर, मृत्यु नहीं अमृतत्व की ओर बढ़ो ।

    दीप-पर्व की आपको ढेर सारी बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं ! आपका – अशोक बजाज रायपुर

    प्रतिक्रिया

  2. arun kumar sahu
    मार्च 16, 2011 @ 10:24:51

    main bahut bahut abhari havo okhar jen mola ek bhahut badia gift cgsongs ke rup ma dis..me orissa ma job kartho aau apn boli,sangeet,parmpara se bahut lagav he,main bahut kosis karo ki c.g. song kahi se dounload hotis kike ab mola dik lagis k pardesh ma apn boli k gana sun aau suna saktho…main ek bar wo computer engineer la thankyou kaahna chaht ho,,,,,,,,,

    प्रतिक्रिया

  3. BALRAM SONWANI-9907758042
    नवम्बर 19, 2011 @ 13:01:19

    तोर मन के नोहे या तोर मन के नोहे

    प्रतिक्रिया

  4. lochan prasad dansena
    अप्रैल 18, 2012 @ 18:47:15

    my best song

    प्रतिक्रिया

  5. ramadharsahu
    सितम्बर 19, 2012 @ 17:34:58

    spritual song for my life . thanks to rajes to collect old song .ia am your fun.

    प्रतिक्रिया

  6. virendra kumar sahu
    सितम्बर 25, 2013 @ 09:01:21

    katko bar sun ekbar au sune ke man hothe

    प्रतिक्रिया

  7. RISPAL RAM SAHU RAJIM-beltukari
    दिसम्बर 02, 2013 @ 14:09:02

    bhahu bhadiya lagish aap ka ye geet

    प्रतिक्रिया

  8. Om Sahu
    सितम्बर 02, 2014 @ 09:10:28

    cg song maya pirit ke song hote jo dil l chhu dethe…………

    om sahu

    प्रतिक्रिया

  9. champu raja
    दिसम्बर 03, 2014 @ 14:48:48

    jiha k jammo geet ha man la jhuma darthe … humla achha lagthe..
    au sir ji
    Aap man
    Kuleshwar tamrakar k
    Chola la kabar tarsaye o
    ram bina
    chola la
    chola la

    ye geet load kar detew ….
    champu raja 7415752985
    rangjhanjhar dance grup
    patsevoni gariyaband c.g…gp

    प्रतिक्रिया

  10. Raj kumar khute
    अगस्त 07, 2015 @ 17:45:03

    gagab nik lagis

    प्रतिक्रिया

  11. prabhat dwivedi
    जनवरी 04, 2016 @ 06:02:59

    Koi bata skathe ka ye line ka ka matlab huis : “लौका हा लौका के दातन मा तोर”

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 610 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: