गाँव बस्ती हे चारी करईया … Gaon Basti He Chari Karaiya

गाँव बस्ती हे चारी करईया
गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
ऐ गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~

गाँव बस्ती हे चारी करईया (का)
सुन्ना हबाय निचट अमरईया (अच्छा)
गाँव बस्ती हे चारी करईया (हाँ हाँ)
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~
(ऐ दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~)

पास आ हे तीर में बलावव कईसे या~~~~~
पास आ हे तीर में बलावव कईसे या~~~
दुरिहा ले~~ देखत रईतें~~व संगवारी~~ (होरे~~)
दुरिहा ले~~ देखत रईथ~~व संगवारी~~

गोठियावव कईसे या
गाँव बस्ती हे चारी करईया (अच्छा)
सुन्ना हबाय निचट अमरईया (गउव)
गाँव बस्ती हे चारी करईया (अच्छा)
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~

ऐ गाँव बस्ती हे चारी करईया (गउवकी)
गाँव बस्ती हे चारी करईया (अच्छा)
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
ऐ दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
ऐ दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
(दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~)

रटहा रे डारा ह फलकथे वो~~~~~
रटहा रे डारा ह फलकथे वो~~~~~
तोर सुध~~ जाथे मोला~~ संगवारी~~~
तोर सुध~~ जाथे मोला~~ संगवारी~~~

चोला तरसथ वो
गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
ऐ दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~

गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया (ईमान से)
गाँव बस्ती हे चारी करईया (अच्छा)
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~
(हाँ हाँ हाँ हाँ
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~)

नरवा के पानी ह नदिया में जा~~~य
नरवा के पानी ह नदिया में जा~~~य
तोला कई~~से बतावव~~ संगवारी~~~ (होरे~~)
तोला कई~~से बतावव~~ संगवारी~~~

ऐ मोर आँसू ह बोहाय
गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~

ऐ गाँव बस्ती हे चा~री करईया (अच्छा)
सुन्ना हबाय निच~ट अमरईया
गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
ऐ दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
(दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~)

तेल अउ~ हरदी ला धर लेबो वो~~~~~
तेल अउ~ हरदी ला धर लेबो वो~~~~~
उहीं आमा~~ में गिंजर~~ लेबो भाँवर~~
उहीं आमा~~ में गिंजर~~ लेबो भाँवर~~

बिहाव कर लेबो वो
गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
गाँव बस्ती हे चारी करईया
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
हाँ दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~

गाँव बस्ती हे चारी करईया (गउवकी)
सुन्ना हबाय निचट अमरईया (अच्छा)
गाँव बस्ती हे चारी करईया (हूँ~)
सुन्ना हबाय निचट अमरईया
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~

ऐ गाँव बस्ती हे चारी करईया
(सुन्ना हबाय निचट अमरईया)
गाँव बस्ती हे चारी करईया
(सुन्ना हबाय निचट अमरईया)
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
(दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~)

{ऐ दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~
दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आहूं य~~~}


गायन शैली : ?
गीतकार : पंचराम मिर्झा
रचना के वर्ष : ?
संगीतकार : पंचराम मिर्झा
गायन : पंचराम मिर्झा, कुलवंतीन मिर्झा
एल्बम : पंचराम मिर्झा के गुरुतुर करौंदा – टी सीरीज
संस्‍था/लोककला मंच : ?

पंचराम मिर्झा के गुरुतुर करौंदा : एल्बम के अन्य गीत
तीर में बलाले मोला … Teer Me Balale Mola (09 नवंबर 2010)
बारी के सुन लेहु गाना … Bari Ke Sun Lehu Gana (19 सितम्बर 2010)

 

यहाँ से आप MP3 डाउनलोड कर सकते हैं

 

गीत सुन के कईसे लागिस बताये बर झन भुलाहु संगी हो …

10 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. राहुल कुमार सिंह
    नवम्बर 11, 2010 @ 07:49:07

    सचमुच गुरतुर हे ए करौंदा. पहिली भी सोचे रहें, ए ल पढ़के फेर बिचार होत हे के जे ढंग से गाए गए हे, तइसनहे प्रकाशित करे के साथ-साथ सिर्फ गीत रूप म भी प्रकाशित करना ठीक होही का, जइसे-

    गाँव बस्ती हे चारी करईया, सुन्ना हबाय निचट अमरईया
    दिन बुड़ती होही मुंधियार करौंदा चले आबे वो~~~

    पास आ हे तीर में बलावव कईसे या~~~~~
    दुरिहा ले देखत रईथ व संगवारी, गोठियावव कईसे या
    गाँव बस्ती हे …

    रटहा रे डारा ह फलकथे वो~~~~~
    तोर सुध जाथे मोला संगवारी, चोला तरसथ वो
    गाँव बस्ती हे …

    नरवा के पानी ह नदिया में जा~~~य
    तोला कई से बतावव संगवारी, ऐ मोर आँसू ह बोहाय
    गाँव बस्ती हे …

    तेल अउ~ हरदी ला धर लेबो वो~~~~~
    उहीं आमा में गिंजर लेबो भाँवर, बिहाव कर लेबो वो
    गाँव बस्ती हे …

    प्रतिक्रिया

    • cgsongs
      नवम्बर 11, 2010 @ 08:35:50

      ठीक कहात हव आप, सुझाव अच्छा हे ।

      संगवारी मन ल मैं आमंत्रित करत हव कि आप मन भी राहुल जी असन गीत ल पढ़ सुन के अपन मन के अनुसार गीत रूप म रच के टिप्पणी करे बर झन भुलाहु …

      प्रतिक्रिया

  2. manish kumar baghmare
    नवम्बर 27, 2011 @ 13:01:48

    BEST SONGS

    प्रतिक्रिया

  3. mukesh chaturvedi
    जनवरी 17, 2012 @ 18:27:49

    mor jatan karo re mai mati mahtari au
    sukh dukh ke sang chalaiya sangvari au

    ye geet la dukhiya bai ha gaye have agar ye geet la kahi se bhi sulabh kara detev to apke mai abhari rahu

    प्रतिक्रिया

  4. Keshari datan 9575616161
    अक्टूबर 29, 2012 @ 06:53:33

    Gadar matahi ye gana la uplode kartew ta bahut badhiya mirjha ji ke

    प्रतिक्रिया

  5. Dhaneshwar Nirmalkar
    दिसम्बर 06, 2013 @ 15:47:14

    बड सुघर लगी हे गा तोर गीत हा …

    प्रतिक्रिया

  6. Kamesh chandrakar
    जून 02, 2014 @ 23:37:51

    A website kabhu band jhin karihaw

    प्रतिक्रिया

  7. Kamesh chandrakar
    जून 02, 2014 @ 23:49:40

    Alka chandrakar k 2-4 badiya sahi karma geet upload kara bhai mor farmaesh pura kara

    प्रतिक्रिया

  8. Chhaliya Ram Sahani 'ANGRA'
    दिसम्बर 04, 2014 @ 14:48:57

    maya karaeya man ha apan radda nikal lethe .sab musibat la kaisno kar ke par kar lethe.

    प्रतिक्रिया

  9. Anil
    फरवरी 22, 2015 @ 22:48:58

    Purana cg gana sun ke achha lagis.

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 610 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: