चिरईया ल के गोंटी मारव … Chiraiya La Ke Gonti Marav

चिरईया ल के गोंटी मारव भाजी फूल

एक गोंटी मारों रे सनानना आजा~~~~~
एक गोंटी मारों रे सनानना आजा~~~~~
दुसरईया गोंटी मारव रे धनी ला पड़ जाय
चिरईया ल के गोंटी मारव
चिरईया ल के गोंटी मारव भाजी फूल
मोर चढ़ती जवानी के दिन हो
चिरईया ल के गोंटी मारव
चिरईया ल के गोंटी मारव भाजी फूल
मोर चढ़ती जवानी के दिन हो
चिरईया ल के गोंटी मारव

करे मुखारी, जामुन डारा वो
करे मुखारी, जामुन डारा वो
तोला बइठेल बलायेव वो हमर पारा
का रे चिरईया ल के गोंटी मारव
तोला बइठेल बलायेव वो हमर पारा
का रे चिरईया ल के गोंटी मारव
चिरईया ल के गोंटी मारव भाजी फूल
मोर चढ़ती जवानी के दिन हो
चिरईया ल के गोंटी मारव
चिरईया ल के गोंटी मारव भाजी फूल
मोर चढ़ती जवानी के दिन हो
चिरईया ल के गोंटी मारव

तोर मोर बोली बहिर बांसु या
तोर मोर बोली बहिर बांसु या
अंगना मा सुध आगे रे सुहरती आंसू
का रे चिरईया ल के गोंटी मारव
अंगना मा सुध आगे रे सुहरती आंसू
का रे चिरईया ल के गोंटी मारव
चिरईया ल के गोंटी मारव भाजी फूल
मोर चढ़ती जवानी के दिन हो
चिरईया ल के गोंटी मारव
चिरईया ल के गोंटी मारव भाजी फूल
मोर चढ़ती जवानी के दिन हो
चिरईया ल के गोंटी मारव

रद्दा ला रेंगे झुलाले डेरी हाथ
रद्दा ला रेंगे झुलाले डेरी हाथ
तें अकेली झन जाबे वो लगा ले मोला साथ
चिरईया ल के गोंटी मारव
तें अकेली झन जाबे वो लगा ले मोला साथ
चिरईया ल के गोंटी मारव
चिरईया ल के गोंटी मारव भाजी फूल
मोर चढ़ती जवानी के दिन हो
चिरईया ल के गोंटी मारव
चिरईया ल के गोंटी मारव भाजी फूल
मोर चढ़ती जवानी के दिन हो
चिरईया ल के गोंटी मारव


गायन शैली : ?
गीतकार : ?
रचना के वर्ष : ?
संगीतकार : ?
गायन : ममता चंद्राकर, मिथलेश साहू
एल्बम : ?
संस्‍था/लोककला मंच : ?

ममता चंद्राकर
ममता चंद्राकर

 

यहाँ से आप MP3 डाउनलोड कर सकते हैं

 

गीत सुन के कईसे लागिस बताये बर झन भुलाहु संगी हो …

32 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. राहुल सिंह
    फरवरी 15, 2011 @ 09:18:03

    बढि़या गीत, फोटो भी दुनों जोरदार.

    प्रतिक्रिया

  2. हेमन्‍त वैष्‍णव
    फरवरी 15, 2011 @ 10:00:30

    सुघ्‍घ्‍ार ददरिया के मजा…..उप्‍पर के मयारू मयारूक लईकुशहा लगत हे ग 🙂

    प्रतिक्रिया

  3. humesh sahu
    फरवरी 15, 2011 @ 19:46:29

    aaj paheli bar ye site la me ha dekhat hau..me ha ye website banaiya ke bahut dhanywad karat hau…au ye bhi ichha rakhat hau ki jaldi hi ae sab gana ke video bhi prapat hohi

    प्रतिक्रिया

  4. Lalkumarsahu
    मार्च 14, 2011 @ 07:52:01

    EKDAM SUGHGHAR LAGIS HE..ME H YE SITE L COMPOSE KARAIYA L BAHUT-BAHUT BADHAI DENA CHAHAT HO KI,OMAN HAMAR RAJYA KE SANSKRITR L SAMJHIS AU AAJ VILUPT HOVAT BHASA L LOGAN MAN KRA LAYEKE KE PRYAS KARIN..ME H EHI CHAHAT HO KI CHHATTISGARHI SANSKRITI H AISNE AAGU BADHE….TOUKKA BAT HARE N SANGVARI…JAY JOHAR

    प्रतिक्रिया

  5. Mohan Verma
    मार्च 15, 2011 @ 21:03:06

    14 march k Dainik Bhaskar paper me hmar Chhattisgarhi site k bare me padhev. mor sath-sath sabbo Chhattisgariha manke ke echha rihis hohi ki hamro Chhattisgarhi bhasa k site hovay. site la khol ke dekhev bahut Badiha lagis . au jada ka likhav Chhattisgariha sable badiha.

    प्रतिक्रिया

  6. sandeep kanker
    मार्च 17, 2011 @ 15:54:53

    shri Rajesh Chandrakar ji aapke is utkrist karya ke liye aapko koti koti badhai…………………………………

    प्रतिक्रिया

  7. Bhevant Agrawal
    अप्रैल 06, 2011 @ 11:44:05

    Respected;
    All listener i m chhattisgarhi man rt. now i m doing job at Lucknow city ,& i m also theater artist ,thank you so for feeding this song ,……………………………mor bar kuchhu kam hoi ta bathu
    Bhevant Agrawal
    09918440099

    प्रतिक्रिया

  8. Dhananjai Kumar Pandey
    जून 22, 2011 @ 16:31:22

    koti koti badhai swikare, a site ke madhyam le jammo bhuia me chhatisgarhi sanskriti ke alakh jaghi.

    प्रतिक्रिया

  9. Pappu bhacha
    जुलाई 29, 2011 @ 10:34:41

    aaj kal mamta au mithlesh k gana kaber nahi aavy?jodi to jordar rihis ga ?

    प्रतिक्रिया

  10. amit jangde
    जुलाई 30, 2011 @ 00:09:36

    KAHIN KAHAT NAHI BANATHE ATKA BANE LAGIS E GAANA HA

    प्रतिक्रिया

  11. Sahu Maheshwar
    अगस्त 02, 2011 @ 12:32:06

    aap wastvik chhattisgarh ka sampurna darshan kara diya thainksssssssssssssssssss

    प्रतिक्रिया

  12. Lochan Prasad Dansena
    अप्रैल 20, 2012 @ 11:45:19

    MY BEST OM COMPUTER SONG

    प्रतिक्रिया

  13. ramadharsahu
    सितम्बर 19, 2012 @ 17:15:40

    i listen 40 years ago in chandainigonda

    प्रतिक्रिया

  14. छबीराम साहू
    मार्च 29, 2013 @ 13:23:04

    मया पिरा के गित बढ़ सुघर गित हे संगी

    प्रतिक्रिया

  15. gagan
    मार्च 30, 2013 @ 16:43:50

    best song

    प्रतिक्रिया

  16. Gopal
    मई 10, 2013 @ 20:24:46

    Shuggha lagish he

    प्रतिक्रिया

  17. mahesh dhurwey
    मई 13, 2013 @ 11:56:22

    sughr Lagis ye geet ha

    प्रतिक्रिया

  18. MJ Mukesh
    जून 17, 2013 @ 16:44:25

    ये गीत ला बहुत दिन बाद सुन के दिल खुश होगे ♥

    प्रतिक्रिया

  19. vinesh kumar yadav
    अगस्त 12, 2013 @ 20:57:12

    Mola aaj ye site k bare ma pata chalis. bahut badiya prayas he cg gana la aau cg sanskriti la jane khatir. Jai johar Jai chhattisgarh.

    प्रतिक्रिया

  20. manish kumar sahu
    फरवरी 26, 2014 @ 17:44:04

    bahut badhiya geet e hamar sanskriti ke

    प्रतिक्रिया

  21. ajay sahu
    मार्च 01, 2014 @ 12:43:50

    mai is website maker ko tahe dil se dhanyavad dena chahunga. jiski wajah se mai aaj apne state se itne dur hone ke baad bhi in gaano ne mujhe apne maati ki yaad dila di. bahu bahut dhanyavad. ek bar phir us ehsaas ko chhattisgarhiya hone ka hai use jinda rakhne ke lia.

    प्रतिक्रिया

  22. Rajendra kumar sant
    जून 16, 2014 @ 21:16:19

    Maja age…….

    प्रतिक्रिया

  23. Rajendra kumar sant
    जून 16, 2014 @ 21:24:34

    Maja age gau…….

    प्रतिक्रिया

  24. ishwar dayal rajwade
    नवम्बर 07, 2014 @ 00:18:42

    Madhuras kas gurtur…

    प्रतिक्रिया

  25. Parbodh Sahu
    नवम्बर 09, 2014 @ 10:36:14

    Rajesh Ji,
    bahut bahut dhanyawad jo aapne aisa collection banaya……
    Parbodh Sahu
    Jamshedpur (09234554054)

    प्रतिक्रिया

  26. RAHUL BANJARE
    मई 20, 2015 @ 06:06:41

    Bhut badhiya atna sugghar git sunaye Br bhut bhut dhanyawad……
    Aahsa karat hao k aage atna sugghar git sune la milhi…..

    प्रतिक्रिया

  27. hemant
    मई 28, 2015 @ 14:27:55

    Mai hr Chhattisgarhi Lok Geet l bahut sunthau, fer ye gana la sun ke bahut badiya lagis

    प्रतिक्रिया

  28. Jay Prakash yadav
    सितम्बर 19, 2015 @ 04:39:19

    Bahut sughghar…
    Akhar jawab nai he

    प्रतिक्रिया

  29. dadu
    मई 01, 2016 @ 23:13:50

    dadariya kala kathe.

    प्रतिक्रिया

  30. Anil Sharma
    मई 22, 2016 @ 16:28:41

    ek dum mast he

    प्रतिक्रिया

  31. Vijay Sonkar
    मई 22, 2016 @ 16:32:14

    bahut sunder he

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 610 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: