सावन आगे, आबे संगी हो … Sawan Aage, Aabe Sangi Ho

सावन आगे आबे आबे आबे आबे संगी हो

सावन आगे आबे आबे आबे आबे संगी हो
सावन आगे आबे आबे आबे आबे संगी हो

धरती सबो हरियागे
घटा बादल करियागे
पुरवईया निक लागे हो~

सावन आगे आबे आबे आबे आबे संगी हो

रही रही के मंदार कस, बाजत अगास मा
खेती खार छ्लछलावय, रिमझिम बरसात मा
~
रही रही के मंदार कस, बाजत अगास मा
खेती खार छ्लछलावय, रिमझिम बरसात मा
तरिया ताल लबलबावय, नरवा नदिया डबडबावय
पुरवईया निक लागे हो~
पुरवईया निक लागे हो~

सावन आगे आबे आबे आबे आबे संगी हो

झुलवा बंधागे पीपर आमा के थांग मा
आगे हरेली मजा लागय झूमर नाच मा
~
झुलवा बंधागे, पीपर आमा के थांग मा
आगे हरेली, मजा लागय झूमर नाच मा
जुड़ जुड़ ह सिपा मारय, घूर घूर ह हिया कांपय
पुरवईया निक लागे हो~
पुरवईया निक लागे हो~

सावन आगे आबे आबे आबे आबे संगी हो

झड़ी बादर सिटिर पिटिर, डर डरावन रात हे
घेरी बेरी तोर सुरता, जीवरा तरसात हे
~
झड़ी बादर सिटिर पिटिर, डर डरावन रात हे
घेरी बेरी तोर सुरता, जीवरा तरसात हे
बूंदा बांदी टपटपावय, झिंगुरा हर गीत गावय
पुरवईया निक लागे हो~
पुरवईया निक लागे हो~

सावन आगे आबे आबे आबे आबे संगी हो

धरती सबो हरियागे
घटा बादल करियागे
पुरवईया निक लागे हो~
पुरवईया निक लागे हो~
पुरवईया निक लागे हो~


गायन शैली : ?
गीतकार : ?
रचना के वर्ष : ?
संगीतकार : ?
गायन : कविता वासनिक, कुलेश्वर ताम्रकार
संस्‍था/लोककला मंच : ?

कविता वासनिक
कविता वासनिक

यहाँ से आप MP3 डाउनलोड कर सकते हैं

गीत सुन के कईसे लागिस बताये बर झन भुलाहु संगी हो …

19 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. राहुल सिंह
    जुलाई 23, 2011 @ 08:10:25

    सावन के गीत बड़ा निक लगत हे.

    प्रतिक्रिया

  2. ASHISH KUMAR SHARMA
    जुलाई 23, 2011 @ 11:16:20

    YAR TOR GANA MAN LA SUNE BINA MAN MADHE NAHI.

    प्रतिक्रिया

  3. Harihar Vaishnav
    जुलाई 23, 2011 @ 21:47:18

    Geet, gaayan au sangeet sabbo sugghar he. Geetkaar au sangeetkaar ke naaw la ghalo bataatew ta bane hotis aise laagthe bhaaii.

    प्रतिक्रिया

  4. Dharmendra Parihar
    जुलाई 24, 2011 @ 12:25:44

    बढ़िया, बहूत बढ़िया……फेर कविता जी के आवाज म तो जादू हे अऊ संग म कुलेश्वर जी… मन मात जाथे

    प्रतिक्रिया

  5. RISHABH BURMAN
    जुलाई 25, 2011 @ 21:50:24

    YAR TOR GANA BAHOOT SUDER HE

    प्रतिक्रिया

  6. amar gurubaxani
    जुलाई 26, 2011 @ 07:38:21

    बहुत बहुत सुन्दर है आपकी कर्ती ११ सालो मै यदि छतीसगढ़ मै तरकी हुई है तो वो है आपके गानों और गीत तथा कविता की, सच है की आप बहुत महनेत कर रहे है ,भधाई

    प्रतिक्रिया

  7. NK Thakur Advocate
    जुलाई 27, 2011 @ 15:47:19

    Bahut mithi ,surili awaj …. prasansiya

    प्रतिक्रिया

  8. naveen kumar tiwari
    जुलाई 28, 2011 @ 20:26:47

    sawan ka ye git chattisgarh saskrity ki jhalak dikhalaa jati hai ,hareli tyoharchattisgarh ke kisano ka pramukh tyohar hai aur dono gayako ki jitani bhi tarif ki jay kam hai, jai johar jai chattisgarh,

    प्रतिक्रिया

  9. vitendra panigrahi
    अगस्त 02, 2011 @ 11:35:07

    bahut achhchha composition hai i like

    प्रतिक्रिया

  10. tiku ram arya
    जनवरी 06, 2012 @ 08:44:02

    Bahut hi khoobsurat gana have

    प्रतिक्रिया

  11. Ramcharan sahu
    अप्रैल 11, 2012 @ 19:11:02

    vah kya kahana apke aavaj me sur me kya jadoo hai bahut khub

    प्रतिक्रिया

  12. laxmikant sen
    जून 21, 2013 @ 20:30:38

    बढ़िया, बहूत बढ़िया…

    प्रतिक्रिया

  13. Poonmaram guriya
    जुलाई 19, 2013 @ 08:09:01

    कविता सून के मारे मनङे मे उठे हिलोर

    प्रतिक्रिया

  14. Khemchand Dhruve
    सितम्बर 06, 2013 @ 16:09:41

    It is very good specialy MamtaChandrakar.

    प्रतिक्रिया

  15. rajat sahu
    अक्टूबर 30, 2013 @ 14:15:21

    Asp man keep gaana abadh shughar he

    प्रतिक्रिया

  16. banshi
    जून 04, 2014 @ 13:26:13

    Kavita wasnik ke git ha bad achha lagis he

    प्रतिक्रिया

  17. ramesh
    जून 05, 2014 @ 16:38:40

    It is very good specialy MamtaChandrakar.

    प्रतिक्रिया

  18. नरेन्द्र कुमार साहू
    जुलाई 08, 2014 @ 23:18:33

    सावन के महिना जाइसने आथे मन मयूरा हर नाच उठ्थे ,घेरी बेरी तेकरे सेती ये गाना ल सुने ल भाथे

    प्रतिक्रिया

  19. naresh
    जून 02, 2015 @ 04:29:59

    ghani kus baila fada gavev bidhata ye cg song mola bane lagthe.

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 610 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: