चलो भईया रे … Chalo Bhaiya Re

चलो भईया रे

पूरब दिसा ले नवा सुरुज के, बगरत हे उजियारी
आसा अउ बिसवास जगाबो, भागे सबो अंधियारी

हो~~~

चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो भईया रे~
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो भईया रे~
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो भईया रे~
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो भईया रे~
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो

हूं~ हूं~ हूं~ हूं~ हूं~ हूं~

चलो भईया खांध म खांध मिलाके रे, जिनगी ल जगाबो
बिगड़ी ल बनाबो, जांगर तोड़ कमा के

चलो भईया खांध म खांध मिलाके रे, जिनगी ल जगाबो
बिगड़ी ल बनाबो, जांगर तोड़ कमा के

आपस के छोड़ भेदभाव ल, मया के बांध बंधाबो~ हे~
आपस के छोड़ भेदभाव ल, मया के बांध बंधाबो~ हे~
आलस छोड़, मेहनत के डोंगा मा
आलस छोड़, मेहनत के डोंगा मा
जुर-मिल डुबकी लगाबो रे, जिनगी ल जगाबो
बिगड़ी ल बनाबो, जांगर तोड़ कमा के
चलो भईया खांध म खांध मिलाके रे, जिनगी ल जगाबो
बिगड़ी ल बनाबो, जांगर तोड़ कमा के

गिर गिर उठना, आघु बढ़ना हमर ठठा हांसी
हमर ठठा हांसी
गिर गिर उठना, आघु बढ़ना हमर ठठा हांसी
हमर ठठा हांसी
जोर जुलुम ले का घबराबो, जोर जुलुम ले का घबराबो
हम पक्का भारतवासी रे, जिनगी ल जगाबो
बिगड़ी ल बनाबो, जांगर तोड़ कमा के
चलो भईया खांध म खांध मिलाके रे, जिनगी ल जगाबो
बिगड़ी ल बनाबो, जांगर तोड़ कमा के

हमर सन्सू में ताला भला कोन तोड़े कहाँ कब पाही~ हे~
हमर सन्सू में ताला भला कोन तोड़े कहाँ कब पाही~ हे~
खांध म खांध मिलाके रहिबो, खांध म खांध मिलाके रहिबो
हम मजदूर सिपाही रे, जिनगी ल जगाबो
बिगड़ी ल बनाबो, जांगर तोड़ कमा के
चलो भईया खांध म खांध मिलाके रे, जिनगी ल जगाबो
बिगड़ी ल बनाबो, जांगर तोड़ कमा के

चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो भईया रे~
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो भईया रे~
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो भईया रे~
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो भईया रे~
चलो जिनगी ल जगाबो, चलो बिगड़ी ल बनाबो
चलो भईया रे~


गायन शैली : ?
गीतकार : लक्ष्मण मस्तुरिया
रचना के वर्ष : ?
संगीतकार : खुमान साव
गायन : कुलेश्वर ताम्रकार अउ साथी
संस्‍था/लोककला मंच : ?

 

यहाँ से आप MP3 डाउनलोड कर सकते हैं

गीत सुन के कईसे लागिस बताये बर झन भुलाहु संगी हो …

10 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. Harihar Vaishnav
    अगस्त 15, 2011 @ 09:52:29

    Sundar geet-sangeet. Geetkaar, sangeetkaar au gaayak sang-sang cgsongs la ghalo badhaaii.

    प्रतिक्रिया

  2. राहुल सिंह
    अगस्त 15, 2011 @ 13:31:22

    ए ह तो बनेच्‍च बने हे, बिगड़े के सवाले नइये.

    प्रतिक्रिया

  3. dhannu chhattisgariya
    अगस्त 15, 2011 @ 14:39:12

    sun k bane lagish, ae gana ha kuchh sikhate ghalo,

    प्रतिक्रिया

  4. OMPRAKASH SAO
    अगस्त 16, 2011 @ 00:30:37

    Chhattisgarh ke sarvshreshtha gitkar au sangitkar ke ye bhi ek prerana dene wala geet he, sune me bahut aanand aayis, dhanyawad.

    प्रतिक्रिया

  5. धर्मेन्द्र परिहार
    अगस्त 20, 2011 @ 18:19:53

    अब्बड़ सुघर माटी के गीत … आज जब देश भर म जम्मो कती भ्रस्टाचार, अत्याचार अऊ अन्याय पसरे हे . … धीरज के बांध हा टूटे कस करत हे….मनखे मन के करेजा हा फाटे कस करत हे… पीरा हा छाती म नई अमावत हे …. फेर गुहार सुनैया मन अतेक दुरिहा म खड़े हवें के चिहुर ह ऊंहा नई हबरत हें…. अइसन गीत सुन के मन म मतावर होए लगे हे. जय जोहार – जय छत्तीसगढ़.

    प्रतिक्रिया

  6. रवि कुमार
    अगस्त 22, 2011 @ 12:47:27

    अच्छा लगा…जितना समझ आया…

    प्रतिक्रिया

  7. bhuvendra shory
    जून 07, 2013 @ 23:25:29

    cg song my favrate

    प्रतिक्रिया

  8. Dhannupatre
    जून 12, 2013 @ 07:38:09

    Geet sangeet sun ke sangee adabad sughghar lagis

    प्रतिक्रिया

  9. nemichand dhruw
    नवम्बर 08, 2013 @ 16:27:24

    achha lagish he

    प्रतिक्रिया

  10. Chhaliya Ram Sahani 'ANGRA'
    दिसम्बर 06, 2014 @ 14:42:21

    mehanat ke pani pasiya ha sukh ke khir puri le jada pabrit he.

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 610 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: