जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी … Jangal Jangal Jhadi Jhadi

पिंजरा के पंछी

जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया

दुख-सुख मा बितत हाबे बाली उमरिया हाय
जंगल जंगल हाय हाय हाय
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया

लिख लिख के तोला भेजेंव में-हर पाती
लिख लिख के तोला भेजेंव में-हर पाती
सुरता रोवई रोवई पहावथे राती
सुरता रोवई रोवई पहावथे राती
मया के आंसू म
मया के आंसू म, भिजगे रे चुनरिया हाय
जंगल जंगल हाय हाय हाय
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया

बादर गरज-गे अउ पानी बरस-गे
बादर गरज-गे अउ पानी बरस-गे
रद्‍दा जोहत जोहत आंखी तरस-गे
रद्‍दा जोहत जोहत आंखी तरस-गे
तोर दरसन खातिर
तोर दरसन खातिर, तरसे रे नजरिया हाय
जंगल जंगल हाय हाय हाय
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया

रिमझिम पानी आवय पवन संग मा
रिमझिम पानी आवय पवन संग मा
महुं ह रइतेंव तोर डेरी अंग मा
महुं ह रइतेंव तोर डेरी अंग मा
कइसे बिसर-गे तैं
कइसे बिसर-गे तैं, हमरो रे लहरिया हाय
जंगल जंगल हाय हाय हाय
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया

दुख-सुख मा बितत हाबे बाली उमरिया हाय
जंगल जंगल हाय हाय हाय
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया

जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया
जंगल जंगल झाड़ी झाड़ी खोजेंव सावरिया


गायन शैली : ?
गीतकार : ?
रचना के वर्ष : ?
संगीतकार : ?
गायन : लता खापर्डे

साभार : धुरवा राम मरकाम

 

यहाँ से आप MP3 डाउनलोड कर सकते हैं

गीत सुन के कईसे लागिस बताये बर झन भुलाहु संगी हो …

22 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. राहुल सिंह
    दिसम्बर 31, 2011 @ 10:09:31

    मजा नहीं आया, नगरी-नगरी द्वारे- द्वारे की कमजोर नकल सा लगा.

    प्रतिक्रिया

  2. Kaleshwar_Chauhan.
    दिसम्बर 31, 2011 @ 20:51:15

    baster loke kala ka yah bahut he purana halbi geet hai. jisse humari sanskriti ko yah aur nikhar raha hai…
    aap sab mann la nova bachhar k hardik badhai..
    Aap mann k sangwari…
    Jai Johar..

    प्रतिक्रिया

  3. parganiha
    जनवरी 02, 2012 @ 14:04:00

    मुझे खुशी हुई कि कोई तो है, जो छत्तीसगढ़ी गीतों की रचना करने में लगा हुआ है.

    प्रतिक्रिया

  4. sudarshansingh
    जनवरी 03, 2012 @ 16:33:02

    lok geet ki aatma najar nahi aaya .filmi geet ki parodi jyada laga

    प्रतिक्रिया

  5. Saralhindi
    जनवरी 05, 2012 @ 08:52:41

    This geet is a true rhythm of Hindi folk song.

    प्रतिक्रिया

  6. A.pandey
    जनवरी 15, 2012 @ 15:56:27

    Jo chhattisgarh k itihas se parichit nahi unhe to ye geet nakal hi lagegi. Hindi filmo me is geet ki aur anya geeton ki nakal ki gayi hai.

    प्रतिक्रिया

  7. मोहन वर्माए जामुल भिलाई
    जनवरी 16, 2012 @ 21:10:51

    Ak kahawat he Chhatisgariha Sable Badiha. “Jay Chhattisgarha”

    प्रतिक्रिया

  8. RAKESH MADHARIYA
    जनवरी 19, 2012 @ 12:15:09

    Bahut bahut dhanywad bhaiya

    प्रतिक्रिया

  9. rakesh tiwari
    जनवरी 22, 2012 @ 08:21:05

    ये गीत प्रसिद्व लोक गायिका स्‍व.दंखिया बाइग्‍ के स्‍वर में हवय अगर वो मिल जातिस त अउ मजा आतिस……बहरहाल बहंत बढिया….

    प्रतिक्रिया

  10. ekaawajmithilake
    फरवरी 03, 2012 @ 14:40:00

    Reblogged this on ekaawajmithilake.

    प्रतिक्रिया

  11. P-one Kumar Sahu
    मार्च 08, 2012 @ 16:54:21

    Kori kori dhanyawad….

    प्रतिक्रिया

  12. Devpatel
    मई 08, 2012 @ 05:58:14

    Nice song

    प्रतिक्रिया

  13. S.K PARDHAN SUKDA (KASDOL)
    जनवरी 07, 2013 @ 20:25:54

    आप मन ला मोर कोती ले राम राम
    ये आप मन के गाना सुन के मन हा मोर गदगद होगे बहुत अच्छा लागिस आप मन मोर गुजारिश हे की दुकालू यादव के एलबम जावत हा दाई के गाना ला जरुर डालहा धन्यावाद जय जोहार जय छत्तीसगढ़

    प्रतिक्रिया

  14. kishan kumar
    फरवरी 03, 2013 @ 10:55:08

    yah ganna mujhe accha laga gayak ka jawab nahi

    प्रतिक्रिया

  15. moolchand
    मार्च 07, 2013 @ 11:40:52

    yah gan

    प्रतिक्रिया

  16. Rajendra Kumar Sahu
    मार्च 08, 2013 @ 12:37:55

    Bahut Achha

    प्रतिक्रिया

  17. shashi kumar diwan
    जून 14, 2013 @ 14:42:36

    ye gana to mujhe achcha laga lekin aap se ek gujarish hai…ye mor maina tor sundar naina,sach habe tore kahna lutge re chaina.ye gana aap man jarur net me dalhu.aap se hath jod ke vinti hai bhaiya g.pls.

    प्रतिक्रिया

  18. manohar das mersa
    जून 28, 2013 @ 19:52:13

    ये आप मन के गाना सुन के मन हा मोर गदगद होगे बहुत अच्छा लागिस आप मन मोर गुजारिश हे

    प्रतिक्रिया

  19. vikasdinkar
    अक्टूबर 21, 2013 @ 11:34:59

    bane lagis gana h

    प्रतिक्रिया

  20. Santoshmaravi jila balaghat tahsil lanji gram sanduka
    मई 14, 2014 @ 15:04:19

    I am like this chhattisgadigeet.chhattisgadigeet is a god songs. You ,what is your like? My answer-my like is chhattisgadisons. My address-my village sanduka,post-newarwahi,tahsil-lanji ,district-balaghat(m.p.)

    प्रतिक्रिया

  21. विरेन्द्र साहू
    अप्रैल 02, 2016 @ 21:06:11

    छत्तीसगढ़ के लोक संगीत ल संजोए के सुघ्घर परयास।
    परनाम हे आप जस माटी पूत ल ।

    प्रतिक्रिया

  22. HARIRAM CHATURVEDI
    मई 05, 2016 @ 21:59:00

    MUJHE CHHATTISGARHI GEET BAHOT ACHCHHA LAGTA HAI, KYUN KI HUM CHHATTISGARH KI CHATNI-BASI KHA KE PALE HAIN

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

हमारी यह पेशकश आपको पसंद आई ?
अपना ईमेल आईडी डालकर इस ब्लॉग की
सदस्यता लें और हमारी हर संगीतमय भेंट
को अपने ईमेल में प्राप्त करें.

Join 610 other followers

हमसे जुड़ें ...
Twitter Google+ Youtube


.

क्रियेटिव कॉमन्स लाइसेंस


सर्वाधिकार सुरक्षित। इस ब्लॉग में प्रकाशित कृतियों का कॉपीराईट लोकगीत-गाथा/लेख से जुड़े गीतकार, संगीतकार, गायक-गायिका आदि उससे जुड़े सभी कलाकारों / लेखकों / अनुवादकों / छायाकारों का है। इस संकलन का कॉपीराईट छत्तीसगढी गीत संगी का है। जिसका अव्यावसायिक उपयोग करना हो तो कलाकारों/लेखकों/अनुवादकों के नाम के साथ ब्लॉग की लिंक का उल्लेख करना अनिवार्य है। इस ब्लॉग से जो भी सामग्री/लेख/गीत-गाथा/संगीत लिया जाये वह अपने मूल स्वरूप में ही रहना चाहिये, उनसे किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ अथवा फ़ेरबदल नहीं किया जा सकेगा। बगैर अनुमति किसी भी सामग्री के व्यावसायिक उपयोग किये जाने पर कानूनी कार्रवाई एवं सार्वजनिक निंदा की जायेगी...

%d bloggers like this: